GI टैग के साथ बिहार का प्रसिद्ध और स्वादिष्ट खाजा

बिहार में खाने के मामले में खाजा बहुत ही प्रसिद्ध वस्तु है। बिहार को ध्यान में रखते हुए सबसे बड़ी बात यह है कि यह एक आकर्षक व्यंजन और स्नैक्स है। बिहार हमेशा से ही देश में भोजन के मामले में काफी प्रसिद्ध रहा है। बिहार राज्य में विभिन्न प्रकार के स्वादिष्ट और शानदार खाद्य पदार्थ हैं, जो सभी जगह लोकप्रिय हैं। खाजा उन्ही से एक है। खस्ता स्वादिष्ट मिठाई खाजा गेहूं के आटे, चीनी और मावा के साथ मिलाकर बनाया जाता है। जिसे बाद में तेल में तल लिया जाता है और फिर गर्म चीनी की चाशनी में भिगो दिया जाता है। जहां यह चीनी की सारी मिठास को अपने आप में सोख लेता है, और फिर जब आप इसको खाइएगा तो ये अपनी सारी मिठास आपके मुंह में पिघला देता है।

यह अनोखी मिठाई राज्यों, बिहार और उत्तर प्रदेश में प्रमुख रूप से लोकप्रिय है। खाजा एक ऐसा शब्द है जिसका संबंध हर बिहारी से है और यहां के लोगों का खाद्य पदार्थ के प्रति विशेष संबंध है। ओडिशा के लोग भी खाजा की मिठास का आनंद लेते हैं।

खाजा प्रमुख रूप से नेपाल में मैथली और भोजपुरी समुदाय के बीच भी बहुत लोकप्रिय है। वैसे तो खाजा पूरे बिहार में बनाया जाता है पर राजगीर अपने खाजा के लिए बहुत प्रसिद्ध है इसमें कोई शक नहीं है !!, राजगीर के रास्ते में आपको कई मिठाई की दुकानें मिल जाएगी जो खाजा के लिए प्रसिद्ध हैं। शादियों में यह बहुत महत्वपूर्ण है और यह बिहार राज्य में एक बहुत ही विशेष महत्व रखता है। शादी के दौरान अपने ससुराल में खाजा की टोकरी भेजना बिहार के लोगों के लिए एक रस्म बन गया है।

माना जाता है कि खाजा की उत्पत्ति २००० वर्षों से हुई है और अभी भी इसकी मिठास और मिठास बरकरार है। बिहार के मिष्ठान सिलाव खाजा को हाल ही में भौगोलिक संकेत (जीआई टैग) दिया गया है। यह निश्चित रूप से विशिष्टता प्रदान करता है।

मिठाई में अगर बात करे तो खाजा काफी सस्ता और हल्का होता है । वैसे तो खाजा में कई परते होती है लेकिन 52 परतों वाला खाजा काफी मशहूर है जिसे आप सिलाव से खरीद सकते है। राजगीर जाने वाले पर्यटक खाजा खरीदना नही भूलते । सिलाव में आपको खाजा की 75 से अधिक दुकाने दिख जाएंगी जिसमें से बहुत सारी दुकाने सैकड़ों वर्षों से खाजा बनाते आ रहे है। तो अगर आप बिहार आये है तो एक बार सिलाव का खाजा जरूर चखे

Leave a Comment

%d bloggers like this: